फ़िक्र से आज़ाद थे

0
16
Shri Ram Bhakti Status

फ़िक्र से आज़ाद थे और
खुशियाँ इक़ट्ठी होती थीं..।

वो भी क्या दिन थे,
जब अपनी भी
गर्मियों की छुट्टियां होती थी

जय श्री राम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here