“ख़्वाब भले टूटते रहे मगर “हौंसले”
फिर भी ज़िंदा हो

“हौसला ” अपना ऐसा रखो जहाँ
मुश्किलें भी शर्मिंदा हो !!””………

*🙏🏻🌷🙏🏻🌷.
सुप्रभात

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here