Home शुभ संध्या / शुभ रात्री यूँ ही नहीं मिलती राही को मंजिल

यूँ ही नहीं मिलती राही को मंजिल

132
0
shubh sandhya bhakti status

​🌿🌺🌿जय 🌺श्री 🌺राधे राधे🌿🌺🌿🌺🌿​
🌿🌺🌿🌺🌿🌺🌿🌺🌿🌺🌿🌺🌿🌺🌿🌺
यूँ ही नहीं मिलती राही को मंजिल,
एक जूनून सा दिल में जगाना होता है,
पूँछा चिड़िया से कैसे बनाया आशियाना बोली –
भरनी पड़ती है उड़ान बार बार,
तिनका तिनका उठाना होता है
🌿🌺🌿शुभ रात्रि🌿🌺🌿

🌿🌺🌿🌺🌿🌺🌿🌺🌿🌺🌿🌺🌿🌺🌿🌺

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here