रिश्ते अंकुरित होते हैं प्रेम से

0
29
suprabhat bhakti status

रिश्ते अंकुरित होते हैं प्रेम से
जिंदा रहते हैं संवाद से
महसूस होते हैं संवेदनाओं से
जिये जाते हैं दिल से
मुरझा जाते हैं गलत फहमियों से
और बिखर जाते हैं अंहकार से।

रूह पर भी, दाग़ आ जाता है…..!!
जब दिलों में, दिमाग़ आ जाता है…..!!

मेरी इबादतों को ऐसे कर कबूल ऐ मेरे
सद्गुरुवर,
के सजदे में मैं झुकूं तो मुझसे जुड़े हर
रिश्ते की जिंदगी संवर जाए🌹

🌺….!!# राधेयय्य्य राधेयय्य्य्य जी#!!….🌺

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here